+91 - 9760738100

sharmamtc@yahoo.com

Principal Message

HOME > Principal Message

Principal Message

शिक्षक वह सम्मानित व्यक्ति है जो विद्यार्थी को अच्छी शिक्षा प्रदान करके एक अच्छे समाज का निर्माण करता है

समय के साथ साथ शिक्षा में परिवर्तन आ गया है , आज हर व्यक्ति अपने बच्चे को उच्च शिक्षा और अच्छे स्कूल में शिक्षा दिलाना चाहता है और अच्छा स्कूल वही होता है जहाँ विद्यार्थियों को नई तकनीक तथा उच्च शिक्षा प्रदान की जाती हो और अच्छे भावी नागरिकों का निर्माण किया जाता है
गत वर्षो में सरकारी तथा गैर सरकारी क्षेत्रों में नर्सरी स्कूलों का विकास अत्यंत तेजी से हुआ है शायद ही कोई ऐसा विद्यालय हो जहाँ नर्सरी कक्षायों की व्यवस्था न हो यह अलग बात है की इन नर्सरी कक्षायों में शिक्षण का स्तर गुणात्मक भले न हो परिणाम में इनकी वृद्धि होना पूर्व बाल्यकाल की शिक्षा के प्रचार तथा प्रसार के प्रति जागरूकता का एहसास कराती है पूर्व बाल्यावस्था की शिक्षा का विकास जितनी तेजी से हो रहा है उतनी शीघ्रता से इन विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षकों /शिक्षिकाओं के प्रक्षिक्षण की दिशा में बहुत कम कार्य हुआ है राष्ट्रीय शिक्षक प्रशिक्षण परिषद् (N .C .T .E ) एवं (N .I .O .S .) ने पूरे बाल्यावस्था की शिक्षा की स्तरहीन स्थिति को गंभीरतापूर्वक समझा तथा पूर्व बाल्यावस्था की शिक्षा अनुसंधान करने के लिए एक पृथक विभाग की स्थापना की इस विभाग ने पूर्व बाल्यावस्था की शिक्षा के क्षेत्र में कार्यरत संस्थाओं ने मार्गदर्शन देना आरम्भ किया
नई तकनीक द्वारा उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान करने के लिए S .D . इंस्टिट्यूट फॉर वोकेशनल स्टडीज & ट्रेनिंग ने परीक्षा संस्था का रूप लेकर अनेक निजी तथा स्वैकच्छिक संस्थाओं को एक वर्षीय/दो वर्षीय पाठ्यक्रम चलाने तथा परीक्षा लेने का कार्य आरम्भ किया यह कोर्स हिंदी और अंग्रेजी दोनों माध्यमों द्वारा हाई स्कूलों और बारहवीं पास विद्यार्थी कर सकते है यह कोर्स शिक्षण पद्धति और विद्यार्थियों के बारे में पूर्ण जानकारी प्रदान करता है और स्कूल के संगठन व प्रशासन की जानकारी से परिचित कराता है यह कोर्स समाज वातावरण विज्ञान शारीरिक शिक्षा प्राथमिक चिकित्सा विद्यार्थी शिशुओं की देखभाल बाल मनोविज्ञान का ज्ञान बच्चो की मनोस्थिति विकास की अवस्था के बारे में समाज में शिक्षा के महत्व के बारे में अवगत कराता है
SDIVST द्वारा छः माह / एक वर्षीय / दो वर्षीय पाठ्यक्रम संचालित कर बच्चो के सर्वागीण विकास हेतु विद्यार्थियों में भयमुक्त शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रशिक्षित करता है इसके अतिरिक्त संस्थान अन्य विभिन्न अंशकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करता है जिससे की छात्र छात्रएं विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर प्राप्त कर सके नोट : SDIVST द्वारा संचालित कोर्स किसी भी सरकारी विभाग में छात्रों की नौकरी देने की गारंटी नहीं देता है अपितु यह पूर्णतः छात्र छत्राओं को रोजगार एवं स्वरोजगार के लिए तकनीकी रूप से प्रशिक्षित करता है|

उद्देश्य : हमारा उद्देश्य अच्छे भावी शिक्षक का निर्माण करना है ताकि एक उच्च और भावी समाज का निर्माण हो सके |
नोट : जिन स्थानों पर नियमित अध्यापन की व्यवस्था नहीं है की छात्राये पत्राचार द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर सकती है लेकिन प्रयोगात्मक विषयो के अध्ययन हेतु 15 दिन के लिए बोर्ड द्वारा आवंटित केंद्र पर जाना होगा

रोजगार नहीं तो स्वरोजगार अपनाओ बेरोजगारी को दूर भगाओ